Header Ads

  • INA BREAKING NEWS

    भीषण दर्द से कराह रही महिला, अस्पताल के गेट पर हुई डिलीवरी



    बांगरमऊ,उन्नाव- अस्पताल की लापरवाही के चलते एक प्रसव पीड़िता ने प्रसव कच्छ के बाहर ही बच्चे को जन्म दे दिया।समय से इलाज ना मिल पाने से बच्चे की मौत हो गई। परिजनों द्वारा अस्पताल स्टाफ पर घोर लापरवाही बरतने का आरोप लगाया गया।

    bhishan-dard-se-karah-rahi-mahilla-aspataal-ke-gate-par-hui-delivery
    भीषण दर्द से कराह रही महिला, अस्पताल के गेट पर हुई डिलीवरी
    कोतवाली क्षेत्र के गांव नद्दी पुरवा निवासी सविता पत्नी मेवालाल को प्रसव पीड़ा के चलते परिजनों द्वारा एंबुलेंस से बीती रात अस्पताल लाया गया। जहां उपस्थित नर्स द्वारा उसे डिलीवरी  होने  में करीब 2 घंटे समय बता कर उसे बाहर ले जाने के लिए कहा गया। जिस पर प्रसव पीड़िता प्रसव कक्ष के बाहर टहल रही थी ।करीब 1 घंटे बाद असहनीय दर्द होने के चलते जब पुनः नर्स को दिखाया तो उसे पुनः करीब डेढ़ घंटे का समय बता कर बैरंग वापस जाने के लिए कह दिया गया।

    जिससे आहत परिजन उसे प्रसव कक्ष के बाहर लेकर जा रहे थे।तभी प्रसूता ने एक बच्चे को जन्म दे दिया। जिसपर परिजनों द्वारा काफी प्रयास कर तैनात नर्स को ढूढकर उसे इलाज कराए जाने हेतु गुहार लगाई गई। किंतु बाहर प्रसव होने से बच्चे को समुचित इलाज ना मिल पाने के चलते उसकी मृत्यु हो गई ।जिसके शव को परिजनों द्वारा ले जाकर अंतिम संस्कार कर दिया गया,प्रसव पीड़ित सविता की दादी शांति व चाचा नरसी द्वारा स्टाफ नर्स पर घोर लापरवाही का आरोप लगाते हुए बताया गया कि यदि समय से उसके देखरेख की जाती तो उसके बच्चे की जान बचाई जा सकती थी।

    रिपोर्ट-मुकेश कुमार 
    INA न्यूज़ 

    Post Top Ad


    Post Bottom Ad


    Blogger द्वारा संचालित.