Header Ads

  • INA BREAKING NEWS

    भ्रष्टाचार के दलदल में वर्षों से आकंठ तक डूबे सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र


    शाहाबाद,हरदोई:- भ्रष्टाचार के दलदल में वर्षों से आकंठ तक डूबे सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र टोडरपुर का आकस्मिक निरीक्षण करने पहुँचे एडीएम को, चार डाक्टरों सहित 14 कर्मचारी जहाँ अनुपस्थित मिले वहीं सुबह 10: 20 बजे मौजूद मिले बहुत से मरीजों ने पंजीकरण न किए जाने के साथ साथ काफी शिकायतें कीं।

    qBhrastachaar-ke-dal-dal-me-varsho-se-akaanth-tak-doobe-saamudaayik-swasthaay-kendra
    भ्रष्टाचार के दलदल में वर्षों से आकंठ तक डूबे सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र

    बताया गया है कि बुधवार को अपर जिलाधिकारी संजय कुमार सिंह जैसे ही सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र टोडरपुर पहुंचे कि पूरे अस्पताल में अफरा-तफरी मच गई। आनन फानन उपस्थित डाक्टरों सहित कर्मचारी एक दूसरे को फोन पर फटाफट सूचना देने लगे लेकिन दूरस्थ स्थानों पर स्तिथ अपने आवासों पर आराम फरमा रहे चार डॉक्टर,एक फार्मासिस्ट एवँ एएनएम, स्टाफ नर्स आदि कुल चौदह कर्मचारी एडीएम के आकस्मिक निरीक्षण में आखिर उपस्थित नहीं हो सके। मौके पर मौजूद मरीजों ने जहाँ एडीएम को बताया यहाँ के डॉक्टर और स्टाफ मरीजों को देखने मे वहुत आनाकानी करते हैं, मरीजों के इलाज में कोई दिलचस्पी नहीं दिखाता।

    वहीं पत्रकारों को जानकारी दी कि इस अस्पताल में जो प्रसूताएं पर्याप्त सुविधाशुल्क देने में असमर्थ होती हैं वह बाहर तड़पती रहती हैं , स्टाफ़ नर्से बिना सुविधाशुल्क लिए प्रसूताओं के हाथ नहीं लगातीं एवँ डिलवरी में पांच सौ रुपये से लेकर हजार रुपए तक न केवल मांगे जाते हैं बल्कि न देने पर मरीजों समेत तीमारदारों से दुर्व्यवहार किया जाता है इतना ही नहीं इसकी शिकायत सीएमओ साहब या अन्य उच्चाधिकारियों से करने पर सीएचसी की एक अनुपस्थित स्टाफ़नर्स के हिस्ट्रीशीटर पति समेत अराजकतत्वों एवँ दबंगो से धमकी दिलवाकर सुलह समझौता करने के कुत्सित प्रयास किए जाते हैं अभी तक शिकायतकर्ता यासीनपुर निवासी अजयपाल की पीड़ित पत्नी आदि के मामले लोग भूले नहीं हैं भले चर्चित दुराचारी के भय व आतंक के परिणामस्वरूप ज्यादातर शिकायतों में समझौता हो चुका है। 

    फिलहाल वहुत से इलाकाई लोगों ने जनपद के जिलाधिकारी की तारीफ करते हुए विश्वास व्यक्त किया कि उन्हें इस सीएचसी की सच्चाई  शायद मालूम नहीं होगी यदि डीएम साहब को वास्तव में यहाँ की सीएचसी पर होने बाली लूट खसोट रिश्वतखोरी और शराब एवँ जुएँ के बारे में  मालुम हो जाए तो फिर किसी भी भृष्ट तानाशाह डॉक्टर एएनएम या स्टाफ़नर्स को बख्शा नहीं जाएगा, क्यों न कोई कितना बड़ा तीरंदाज हो। इस सम्बंध में एडीएम ने बताया कि मैंने डीएम साहब को रिपोर्ट भेज दी है अब जो भी कार्यवाही होगी वह डीएम साहब के स्तर से ही होगी।

    रिपोर्ट- अतुल मिश्रा 
    INA न्यूज़ 

    Post Top Ad


    Post Bottom Ad


    Blogger द्वारा संचालित.