Header Ads

  • INA BREAKING NEWS

    किसानों को कृषि में विविधता लाकर आय दोगुनी करने के प्रति जागरूक करें:- जिलाधिकारी


    हरदोई- भारत सरकार एवं प्रदेश सरकार की मंशानुरूप किसानों की आय दोगुनी करने के सम्बन्ध में कृषि, गन्ना, मत्स्य, उद्यान, पशु विभाग के अधिकारियों एवं कृषि वैज्ञानिकों की कलेक्ट्रेट सभागार में आयोजित बैठक की अध्यक्षता करते हुए, जिलाधिकारी पुलकित खरे ने कहा कि इन सभी योजनाओं की जानकारी किसानों को देकर एवं कृषि में विविधता लाकर आय दोगुनी करने के प्रति जागरूक करें।

    kissano-ko-krashi-me-vividhita-laaker-aay-doguni-karne-ke-prati-jaagruk-kare-jilaadhikari
    किसानों को कृषि में विविधता लाकर आय दोगुनी करने के प्रति जागरूक करें:- जिलाधिकारी

    उन्होने कहा कि सभी विभाग के एटीएम/बीटीएम एवं अन्य क्षेत्रीय अधिकारी व कर्मचारी अपने कार्य क्षेत्र का एक रजिस्टर बनाये जिसमें उनकी ग्राम पंचायत में कितने किसान है,कितनों का बीमा है और केकेसी कार्ड बने है, पशुओं की संख्या व टीकाकरण एवं स्वास्थ्य लाभ, पट्टे के तालाब, उद्यान एवं भूमि संरक्षण विभाग की ओर से कराये जा रहे समस्त कार्यो की जानकारी उपलब्ध हो ताकि निरीक्षण के दौरान किसी भी योजना की जानकारी करने में दिक्कत न हो।मत्स्य विभाग की समीक्ष करते हुए जिलाधिकारी ने सहायक निदेशक मत्स्य को निर्देश दिये कि वर्ष 2017-18 व 2018-19 में पट्टे पर किये गये तालाबों, समितियों एवं समिति के सदस्यों का सत्यापन करायें तथा तालाबों का आवंटन निर्धारित मानक के अनुरूप मछुआ समुदाय एवं समितियों को किया जाये। 

    उद्यान विभाग की सभी योजनाओं में खराब प्रगति पर नाराजगी व्यक्त करते हुए मुख्य विकास अधिकारी को निर्देश दिये दिये कि जिला उद्यान अधिकारी को चेतावनी जारी की जाये तथा प्रगति में सुधार लाने के निर्देश दिये जाये। राष्ट्रीय औषधि पौध योजना के सम्बन्ध में जिलाधिकारी ने जिला उद्यान अधिकारी को निर्देश दिये कि जनपद में निर्धारित लक्ष्य सतावर, सर्वगंधा एवं तुलसी के अलावा ऐलोबीरा आदि भी बढ़ावा दिया जाये।

    पशु विभाग की समीक्षा करते हुए जिलाधिकारी ने मुख्य पशु चिकित्सा अधिकारी डा0 जेएन पाण्डेय को निर्देश दिये कि ग्रामीण क्षेत्रों में चल रही कुक्कुट पालन के प्रति जागरूक करें और अधिक से अधिक लोगों को कुक्कुट पालन से जोड़े। उन्होने डा0 पाण्डेय को निर्देश दिये कि क्षेत्र के सभी पशु चिकित्सकों के नाम, मोबाइल नम्बर, कार्यक्षेत्र एवं एक माह का भम्रण कार्यक्रम की सूची तत्काल प्रभाव से मुख्य विकास अधिकारी एवं उन्हें उपलब्ध कराना सुनिश्चित करें। इसके उपरान्त उन्होने भूमि संरक्षण विभाग की परियोजनाओं पर किये जा रहे कार्यो की समीक्षा की। बैठक में कृषि वैज्ञानिकों द्वारा बताया गया कि जो पट्टे के तालाब पर मछली पालन करते है वह साथ में बतख पालन कर उनके अन्डों को विक्रय कर अपनी आय बढ़ा सकते है, बागों एवं गन्ने की फसल में फूल की खेती कर भी अपनी आय बढ़ा सकते है। इस संबंध में जिलाधिकारी ने संबंधित विभाग के अधिकारियों को निर्देश दिये कि कृषि वैज्ञानिकों के सम्पर्क में रहकर अपने क्षेत्र के किसान की खेती आदि में किस प्रकार विविधता लाकर उसकी आय को दोगुना किया जा सकता है।

    बैठक कें श्री खरे ने कहा कृषि प्रधान जनपद होने के नाते सभी का कत्वर्य है कि वह जनपद के समस्त किसानों की सरकार की मंशानुसार आय दोगुनी करने के लिए ईमानदारी से कार्य करें तथा एटीएम्/बीटीएम एवं अन्य ग्रामीण स्तरीय अधिकारी व कर्मचारी नियमित पंचायत भवन में बैठकर ग्राम वासियों की समस्याओं को सुनकर उनका निस्तारण करें और पशु चिकित्सा विभाग के चिकित्सक 12 बजे तक अस्पताल में बैठने के बाद अपने ग्रामीण क्षेत्र के पशुओं का रोस्टर के अनुसार टीकाकरण एवं स्वास्थ्य परीक्षण करायेगें जिसकी आख्या दिनांक बार रजिस्टर पर अंकित की जायेगी। मुख्य विकास अधिकारी आनन्द कुमार ने भी संबंधित विभाग के अधिकारियों को समन्वय बनाकर किसानों की आय दोगुनी करने की सलाह दी। इस अवसर उप कृषि निदेशक डा0 आशुतोष कुमार मिश्रा ने जिलाधिकारी एवं मुख्य विकास अधिकारी का आभार व्यक्त करते हुए आश्वासन दिये कि आपके दिशा निर्देशन एवं सरकार की मंशानुरूप जनपद के किसानों को लाभान्वित किया जायेगा। बैठक में सहायक निदेशक मत्स्य, जिला कृषि अधिकारी, भूमि संरक्षण अधिकारी प्रथम, द्वितीय सहित सभी एटीएम/बीटीएम आदि मौजूद रहे।

    शुभम वाजपेई 
    INA न्यूज़ ब्यूरो चीफ 

    Post Top Ad


    Post Bottom Ad


    Blogger द्वारा संचालित.