Header Ads

  • INA BREAKING NEWS

    30 सितम्बर को पात्र लाभार्थियो को ऋण स्वीकृत पत्र प्रदान किया जायेगाः-जिलाधिकारी


    हरदोई- जिलाधिकारी पुलकित खरे के निर्देशन एवं नेतृत्व में 23 सितम्बर को रसखान प्रेक्षागृह में मुद्रा योजना के अन्तर्गत मुद्रा लोन मेला पंजीकरण का आयोजन प्रातः 10 बजे से सायं 5 बजे तक किया जा रहा है तथा 30 सितम्बर को पात्र लाभार्थियो को ऋण स्वीकृत पत्र प्रदान किया जायेगा। इस मुद्रा योजना मेले का एक मात्र उद्देश्य जिले में उद्यमिता के द्वारा रोजगार बढ़ाना है जिससे जिले के छोटे उद्यमो को बढ़ावा मिलेगा एवं रोजगार के अवसर उत्पन्न होंगे। उन्होने बताया कि प्रशासन की नई पहल के अन्तर्गत एक सप्ताह में पात्र व्यक्तियो को मुद्रा लोन प्रदान दिया जायेगा।

    30-september-ko-patra-labharthiyo-ko-rid-swikrit-patr-pradan-kiya-jyega-jilaadhikari
    30 सितम्बर को पात्र लाभार्थियो को ऋण स्वीकृत पत्र प्रदान किया जायेगाः-जिलाधिकारी

    जिलाधिकारी ने बताया कि प्रधानमंत्री मुद्रा योजना की शुरूआत भारत के मा0 प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने 8 अप्रैल 2015 को नई दिल्ली में की थी। मुद्रा योजना की तीन श्रेणियां है शिशु, किशोर एवं तरूण, ये तीनो श्रेणियां लाभार्थियो के विकास एवं वृद्धि में मदद करेंगी। जिसमें शिशु में रू0 50,000/-तक लोन, किशोर में रू0 50,000/-से अधिक और रू0 5,00,000/-तक का लोन तथा तरूण में रू0 5,00,000/-से रू0 10,00,000/-तक का लोन प्राप्त किया जा सकता है। इस मुद्रा मेंला के माध्यम से जिले में मुद्रा योजना से जिले को लाभान्वित करना है।

    इस कार्यक्रम में 23 सितम्बर एवं 30 सितम्बर को सभी बैंकों द्वारा रसखान प्रेक्षागृह में स्टाल लगाया जायेगा जिसमें इच्छुक आवेदक आवेदन कर सकेंगे जिसमें इनका पंजीकरण होगा एवं एक सप्ताह में पात्र आवेदको को 30 सितम्बर को ऋण स्वीकृत कर ऋण वितरण का कार्यक्रम किया जायेगा। उन्होने बताया कि इस योजना की मुख्य विशेषताएं कम व्याज दर, रियायती प्रोसेसिंग शुल्क, कार्यशील पूंजी ऋण, मुद्रा कार्ड के माध्यम से प्रदान करने की सुविधा है।

    इस योजना में लाभ पाने के लिए लाभार्थी को पहचान पत्र, निवास प्रमाण पत्र, व्यापार उद्यम का पता, व्यवसायिक लाइसेंस के स्वामित्व, पहचान और पते से सम्बन्धित प्रासंगिक लाइसेंस/पंजीकरण प्रमाण पत्र/अन्य दस्तावेज की प्रतियां लाना होगा। इस योजना की शर्तो में आवेदक किसी भी बैंक/वित्तीय संस्थान में डिफाल्ट नही होना चाहिए। आयकर/बिक्रीकर रिटर्न आदि के साथ ईकाइयों की पिछले 2 साल की बैलेंस शीट, कार्यशील पूंजी के मामले में दो साल के लिए प्रोजेक्टेड बैलेंस शीट एवं सावधि ऋण के मामले में ऋण की अवधि तक प्रोजेक्टेड बैलेंस शीट, आवेदन जमा करने की तिथि तक चालू वित्तीय वर्ष के दौरान हासिल की गई बिक्री, परियोजना रिर्पोट (प्रस्तावित परियोजना के लिए) जिसमें तकनीकी और आर्थिक व्यवहारिता का विवरण शामिल हो तथा आवेदक की तीन फोटो जमा करना होगा।


    Post Top Ad


    Post Bottom Ad


    Blogger द्वारा संचालित.