Header Ads

  • INA BREAKING NEWS

    उप्र : केशव मौर्य के बयान पर मुस्लिम संगठनों ने जताया ऐतराज.


    लखनऊ, 20 अगस्त -उत्तर प्रदेश के उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य के राम मंदिर पर दिए गए बयान को लेकर अब मुस्लिम संगठनों ने तीखी प्रतिक्रिया व्यक्त की है। इन संगठनों का कहना है कि राम मंदिर मुद्दे को जानबूझकर हवा दिया जा रहा है। इस तरह के संवेदनशील मुद्दे पर बयानबाजी सही नहीं है। ऑल इंडिया मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड के सदस्य और मुस्लिम धर्मगुरु मौलाना खालिद रशीद फिरंगी महली ने सोमवार को केशव मौर्य के बयान पर पलटवार करते हुए कहा कि राम मंदिर जैसे संवेदनशील मुद्दे पर बयान देना सही नहीं है। 

    uttarpradesh-keshav-maurya-ke-vyan
    उप्र : केशव मौर्य के बयान पर मुस्लिम संगठनों ने जताया ऐतराज.

    उन्होंने कहा कि नेताओं को इस मामले में बयानबाजी से बचना चाहिए। फिरंगी महली ने पूछा कि जब मामला सर्वोच्च न्यायालय में है तो फिर नेता जानबूझकर ऐसे बयान क्यों देते हैं।फिरंगी महली ने कहा, "कई चुनाव इसी मुद्दे पर पार्टियों ने लड़े हैं। जानबूझकर ऐसे मुद्दों को हवा दिया जा रहा है। जनता भी यह चाहती है कि एक अच्छे माहौल में न्यायालय के फैसले से हल निकले।"गौरतलब है कि केशव प्रसाद मौर्य ने रविवार को कहा था कि राज्यसभा में बहुमत होता तो अयोध्या में राम मंदिर निर्माण के लिए विधेयक पास कराकर राम मंदिर का निर्माण प्रशस्त कर देते। फिलहाल भाजपा के पास राज्यसभा में बहुमत नहीं है, इसलिए यह संभव नहीं है।

    राजधानी लखनऊ में मीडिया से बातचीत में मौर्य ने कहा कि देश के करोड़ों लोग अयोध्या में राम मंदिर देखना चाहते हैं। हमारे लिए भी यह आस्था का विषय है।जब उनसे पूछा गया कि राज्यसभा में बहुमत हो जाएगा तो क्या भाजपा विधेयक लाएगी? मौर्य ने कहा, "फिलहाल अभी मामला अदालत में विचाराधीन है। विश्वास है कि राम मंदिर विवाद का जल्द समाधान हो जाएगा और अयोध्या में भगवान श्रीराम के मंदिर निर्माण का मार्ग प्रशस्त होगा।"

    Post Top Ad


    Post Bottom Ad


    Blogger द्वारा संचालित.