Header Ads

  • INA BREAKING NEWS

    दिल्ली : वाहनों के हिसाब से काम करेगा ट्रैफिक सिग्नल


    राजधानी में ट्रैफिक सिग्नल जल्द वाहनों के हिसाब से चलेंगे। यानि जिस सड़क पर ज्यादा वाहन होंगे वहां खुद-ब-खुद रेड लाइट ग्रीन हो जाएगी। आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस सॉफ्टवेयर के जरिये यह संभव होगा। छह महीने में इस सॉफ्टवेयर से राजधानी के 900 से अधिक चौराहों को आपस में जोड़ दिया जाएगा।


    खासियत : गणितीय मॉडल पर आधारित यह सॉफ्टवेयर सड़क पर गुजर रहे वाहनों का डेटा खुद तैयार करेगा। इसके आधार पर वह बताएगा कि किन मार्गों पर किस वक्त जाम लग सकता है और किस तरफ डायवर्जन करने से परेशानी नहीं होगी। 

    सॉफ्टवेयर यातायात के हिसाब से रेड लाइट को ग्रीन और ग्रीन को रेड करता रहेगा। इससे चौराहों पर वाहन चालकों को ज्यादा समय तक जाम में नहीं रहना पड़ेगा। सभी चौराहे आपस में कनेक्ट होंगे। इससे ग्रीन सिग्नल के बाद आगे के चौराहों पर भी उसी दूरी के हिसाब से सिग्नल ग्रीन हो जाएगा।

    चौराहों को सिग्नल के साथ, कैमरा, सेंसर, इन्फॉरमेशन और एड्रेस सिस्टम से लैस किया जाएगा ताकि उन चौराहों से गुजरने वाले वाहनों की संख्या का पता चल सकेगा।

    प्रोजेक्ट की आधिकारिक मंजूरी मिलने के बाद विशेषज्ञों से सलाह ली जा रही है। जल्द ही यह काम पूरा कर लिया जाएगा। -दीपेंद्र पाठक, स्पेशल कमिश्नर ट्रैफिक

    नियम तोड़ा तो फंसेंगे
    यातायात नियम तोड़ने वाले वाहनों की जानकारी सीधे कंट्रोल रूम से चौराहों पर लगे स्पीकर सिस्टम के जरिए दी जाएगी। इससे हर चौराहे पर तैनात ट्रैफिक दस्ता उस वाहन चालक के खिलाफ कार्रवाई कर सकेगा। इसके लिए तीन स्मार्ट ट्रैफिक कंट्रोल ऐंड कमांड रूम बनाए जाएंगे।

    उत्तराखंड से सैयद उवैस अली के साथ सहयोगी प्रवेज आलम 

    Post Top Ad


    Post Bottom Ad


    Blogger द्वारा संचालित.