Header Ads

  • INA BREAKING NEWS

    महान लेखकों को समर्पित

    महान लेखकों को समर्पित 

    आज  13 मई 2018 को आगरा में ताज लिटरेचर क्लब की मई बैठक का आयोजन होटल द के एस राॅयल में 4:00 बजे से किया गया । यह कार्यक्रम अमॄत विद्या एजुकेशन फॉर इममोर्टिलिटी  सोसाइटी तथा आगरा विजन 2025 के सहयोग से किया गया। 


    इस कार्यक्रम में शहर की प्रमुख साहित्यिक हस्तियां और बहुत से नव हस्ताक्षर मौजूद थे। क्लब की संस्थापिका भावना वरदान में बताया यह बैठक हिंदी और उर्दू के उन महान लेखकों को समर्पित थी जिनका जन्मदिवस मई में मनाया जाता है। कार्यक्रम की शुरुआत के द्वारा दीप प्रज्वलन से हुई।


    कार्यक्रम की शुरुआत सरस्वती वंदना से हुई । श्री अनिल शर्मा ने अमृत विद्या,आगरा विजन तथा होटल के एस रॉयल की ओर से अतिथियों का अभिवादन किया। उन्होंने कहा के यह आगरा में सामूहिक साहितिक गतिविधि करने का एक प्रयास है.

    आज के प्रोग्राम कि मुख्य अतिथि थीं श्रीमती कुसुम दास -एयरपोर्ट डायरेक्टर आगरा एयरपोर्ट.

    वही ताज लिटरेचर क्लब ने  हिंदी और उर्दू के उन महान लेखकों को समर्पित किया, पोर्टल अदब मंच  को और इसका  उद्घाटन इसी मंच से किया गया. 

    इस पोर्टल का उद्देश्य है तमाम छोटे बड़े लेखकों सहित ताज लिटरेचर क्लब से जुड़े तमाम लेखक व रचनाकारों के शेर ओ शायरी कवितायें रचनाओं का वहा संग्रह हो.  जिसका लिंक हैं adabmanch.com 


     इसके उपरांत शुभाशीष गाँगुली और शोम्पा गांगुली द्वारा गुरु रवीन्द्रनाथ टेगोर के गीतों पर आधारित रवींद्र संगीत की प्रस्तुति की गई। कार्यक्रम में पम्मी सदाना द्वारा मंटो की कहानी अकल दाढ़ पर भी एक नाटंय प्रस्तुति की गई । इसके बाद क्लब की अध्यक्ष डॉक्टर मधु भारद्धाज ने सब का अभिवादन किया । 

    विशिष्ट अतिथि कुसुम दास, डॉ आर सी शर्मा, सुधीर नारायण , विनय पत्सरिया, महेश शर्मा, कुसुम पालीवाल  आदि की गरिमामयी उपस्थिति रही। कार्यक्रम में हरदोई से आई समाज सेविका आरती मिश्रा "स्वतंत्र" कार्यक्रम में लखनऊ से आई हुई आर जे मनीषा चौधरी, आदि लोग  उपस्थित थे।


    कार्यक्रम में राजकुमार शर्मा, अरुणा गुप्ता, साधना भार्गव ,दीक्षा गुप्ता, , अवनीश अरोड़ा नरेश चंद्र डॉ मुक्ता, मधु त्रिवेदी, निवेदिता दिनकर,  किया। कार्यक्रम में आगरा में डायरी में लिखने  वाले कवियों के लिए ताज लिटरेचर क्लब एक ऐसा मंच बन गया है जहां वे न केवल साहित्य चर्चा कर सकते हैं बल्कि अपनी कविताओं को दूसरों के सामने प्रस्तुत कर सकते हैं। 

    टीएलसी आगरा का पहला युवा हिंदी क्लब है जिसने बहुत कम समय में ही साहित्य जगत में अपने काव्य गोष्ठियों के द्वारा धूम मचाई है।




    Post Top Ad


    Post Bottom Ad


    Blogger द्वारा संचालित.