Header Ads

  • INA BREAKING NEWS

    दबंगो ने ब्यास गद्दी पे रखी अम्बेडकर की मूर्ति गिरई- अनुयायियों में भारी आक्रोश

    बांगरमऊ उन्नाव क्षेत्र के गांव हयातनगर भौरा में बौद्ध धर्म के अनुयायियों द्वारा कराई जा रही गौतम बुद्ध ,भीमराव अंबेडकर की कथा पंडाल में पहुचकर गांव के ही एक दर्जन दबंगो ने ब्यास गद्दी पे रखी अम्बेडकर की मूर्ति गिरा दी व लगे पोस्टर फाड़ दिए गए ।जिससे अनुयायियों में भारी आक्रोश ब्याप्त हो गया।स्थित को देखते हुए क्षेत्रीय आला अफसर मौके पर पहुँचे।ग्रामीणों द्वारा कार्यवाही कर गिरफ्तारी की मांग की गई।पुलिस ने आरोपियों पर रिपोर्ट दर्ज कर कार्यवाही का आस्वाशन दिया गया।


    क्षेत्र के गांव हयात नगर भौरा के निवासी शीतल प्रसाद,रामस्वरूफ़,जसवंत सिंह,राजकुमार व डोंगी तथा शिवरानी आदि ग्रामीणों द्वारा अवगत कराया गया कि उनके गांव में करीब 40 फीसदी लोग महात्मा गौतम बुद्ध व डॉक्टर भीमराव अंबेडकर के अनुयायी है।ग्रामीणों द्वारा पिछले करीब 20 वर्षो से चंदा वसूलकर हर वर्ष कार्यक्रम सम्पन्न कराते चले आ रहे है।इसी क्रम में इस बार भी ग्रामीणों द्वारा ग्राम नगलामऊ पोस्ट बस्तर गंज डुण्डवारा कासगंज की कथा कमेटी द्वारा भगवत कथा का आयोजन कराया जा रहा था।जिसमे कमेटी द्वारा शाशन की परमिशन के आधार पर समय को ध्यान में रखते हुए इस धार्मिक कार्यक्रम का संचालन कराया जा रहा था।आज भगवत कथा के पांचवे दिन समापन होना था।आज भोर पहर करीब 7 बजे जब भगवत कथा बन्द थी व पंडाल खाली था तभी गांव के ही दबंग कृष्णपाल,अतुल तथा रंजीत आदि सहित करीब एक दर्जन लोग वहाँ आ धमके तथा ब्यास गद्दी पर रखी अम्बेडकर की मूर्ति गिरा दी व वहाँ लगे पोस्टर फाड़ दिए तथा रखी धर्मिक वस्तुएं फेक दी।मौके पर मौजूद कुछ लोगो द्वारा जब इसका विरोध किया गया तो उनके साथ मारपीट व जातिसूचक गाली देकर दोबारा कार्यक्रम नही होने देने की धमकी देते हुए लाठी डंडे लहराते हुए दबंग फरार हो गए।सूचना पर एकत्र हुए ग्रामीणों द्वारा कोतवाली में सूचना दी गयी।मौके पर पहुची कोतवाली पुलिस ने समझाने का प्रयास किया किन्तु तब तक सैकड़ो ग्रामीणों की भीड़ एकत्र हो गयी।तथा उनके द्वारा कार्यवाही कर गिरफतारी की मांग की जाने लगी।स्थित को भांपते हुए मौके पर उपजिलाधिकारी प्रदीपकुमार व क्षेत्राधिकारी अम्बरीष भदौरिया भी मौके पर पहुँच गए।उच्च अधिकारियों द्वारा ग्रामीणों को समझाबुझाकर कार्यक्रम शुभारम्भ कराये जाने व आरोपियों को गिरफ्तार करने के  आस्वाशन पर स्थित नियंत्रण में की गई। 
          अनुयायियों द्वारा बताया गया कि प्रत्येक 14 अप्रैल को उनके द्वारा डॉक्टर भीमराव अंबेडकर की जयंती व करीब 20 वर्षो से लगातार धार्मिक कथा का आयोजन किया जा रहा है।करीब पांच वर्ष पूर्व जुलूस के दौरान कुछ दबंगो द्वारा उनके मार्ग में बाधा डालने की कोशिश की गई थी।तब स्थित सम्भालने के लिए प्रशाशन द्वारा पी ए सी बल लगाया गया था।ग्रामीणों का कहना है कि उक्त आरोपी अत्यंत ही दबंग किस्म के लोग है जो आये दिन अनुयायियों को जातिसूचक सब्द से छींटाकसी करते रहते है।तथा पुलिस रिकार्ड में भी दर्जनों अपराधिक प्रार्थना पत्र पूर्व में दिए जा चुके है।

    उन्नाव से मुकेश कुमार की रिपोर्ट  

    Post Top Ad


    Post Bottom Ad


    Blogger द्वारा संचालित.