Header Ads

  • INA BREAKING NEWS

    नकवी ने अजमेर शरीफ में चादर चढ़ाई


    अजमेर, 19 मार्च  अल्पसंख्यक मामलों के केंद्रीय मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी ने सोमवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की ओर से सूफी संत ख्वाजा मोइनुद्दीन चिश्ती की मजार पर पारंपरिक चादर चढ़ाई। 


    अपने संदेश में मोदी ने सूफी संत के भारत और विदेशों में रहने वाले अनुयायियों को 806वें सालाना उर्स की शुभकामनाएं दी। 

    उन्होंने कहा, "भारत के बारे में कहा जाता है कि इसे शब्दों में बयां नहीं किया जा सकता बल्कि इसे महसूस किया जाना चाहिए। शांति, एकता, सौहार्द देश में विभिन्न दर्शनों का मर्म रहे हैं और सूफीवाद भी उनमें से एक है। जब हम भारत में सूफी संतों की बात करते हैं तो ख्वाजा मोइनुद्दीन चिश्ती महान आध्यात्मिक परंपराओं के प्रतीक के रूप में दिखाई पड़ते हैं। 'गरीब नवाज' द्वारा की गई मानवता की सेवा आगामी पीढ़ियों के लिए प्रेरणा बनी रहेंगी।"

    मोदी ने कहा, "इस महान संत के सालाना उर्स के मौके पर मैं दरगाह अजमेर शरीफ की शान में चादर और खिराज (खिराज-ए-अकीदत) पेश करता हूं और हमारी संस्कृति के एक सामंजस्यपूर्ण सह-अस्तित्व की दुआ मांगता हूं। ख्वाजा मोइनुद्दीन चिश्ती के दुनियाभर के अनुयायियों का सालाना उर्स के मौके पर अभिनंदन करता हूं और शुभकामनाएं देता हूं।"

    मीडियाकर्मियों से बातचीत में नकवी ने कहा कि आतंकवाद इस्लाम और पूरी मानवता का सबसे बड़ा दुश्मन है। 

    नकवी ने कहा, "ख्वाजा मोइनुद्दीन चिश्ती की शिक्षाओं और सिद्धांतों के मूल में भी यही संदेश है। ख्वाजा गरीब नवाज के सिद्धांत और प्रतिबद्धता उन बुरे तत्वों को हराने के लिए एक मजबूत हथियार हैं जो मानव मूल्यों को कमजोर करने और दुनिया की शांति और समृद्धि में खलल डालने की कोशिश कर रहे हैं।"

    उन्होंने कहा कि भारत पूरी दुनिया के लिए सामाजिक और सांप्रदायिक सौहार्द का एक उदाहरण है।

    नकवी ने अल्पसंख्यक मामला मंत्रालय द्वारा दरगाह के पास कायद रोड स्थित 'विश्रामस्थली' पर निर्मित 100 शौचालयों वाले एक परिसर का भी उद्घाटन किया।

    Post Top Ad


    Post Bottom Ad


    Blogger द्वारा संचालित.