Header Ads

  • INA BREAKING NEWS

    प्रसूता की तबियत बिगड़ी, डॉक्टर एक घंटे तक नहीं पहुंची, मौत

    एसपी बंगले के पास डॉ.इंदु अग्रवाल नर्सिंग होम में रात एक बजे प्रसूता महिला की हालत बिगड़ी।

    मुरैना। एसपी बंगले के पास डॉ.इंदु अग्रवाल नर्सिंग होम में रात एक बजे प्रसूता महिला की हालत बिगड़ी। परिजनों ने मौजूद स्टाफ को सूचना दी। लेकिन डॉक्टर एक घंटे तक अस्पताल नहीं पहुंची और महिला को उपचार नहीं दिया। एक कंपाउडर ने इंजेक्शन दिया। लेकिन तुरंत बाद महिला की मौत हो गई।

    महिला की मौत के बाद परिजनों ने हंगामा कर दिया। हालांकि सूचना मिलते ही मौके पर सीएसपी सहित कोतवाली का बल पहुंच गया। नर्सिंगहोम में काम करने वाली यह डॉक्टर जिला अस्पताल की मेटरनिटी में संविदा पर पदस्थ हैं और लंबे अरसे से नॉन पेमेंट पर अवकाश पर चल रही हैं।

    घटनाक्रम के मुताबिक शांताबाग निवासी गौरव तोमर की 23 वर्षीय पत्नी पूजा को प्रसव के लिए रविवार शाम 4 बजे पास के ही डॉ. इंदु अग्रवाल नर्सिंगहोम में भर्ती कराया गया। करीब 8 बजे महिला को नार्मल प्रसव हुआ। रात करीब 12.30 बजे पूजा की हालत खराब होने लगी।
    इसके बाद प्रसूता के साथ उसकी मौसी सास ने मौजूद स्टाफ को हालत खराब होने की सूचना दी। साथ ही डॉक्टर को बुलाने के लिए कहा। लेकिन डॉ. नीता कुशवाह सूचना मिलने पर भी समय पर नहीं पहुंची।

    करीब डेढ़ बजे जब महिला की हालत और खराब हुई तो अस्पताल के कंपाउडर अवध्ोश ने एक इंजेक्शन लगा दिया। इंजेक्शन लगाने के बाद महिला की मौत हो गई। इसके बाद करीब ढाई बजे डॉ. नीता कुशवाह, नर्सिंगहोम संचालक डॉ. एसएम अग्रवाल पहुंचे। हालांकि तब उन्होंने महिला को मृत घोषित नहीं किया। रात करीब 3.45 बजे महिला को मृत घोषित किया।

    इसके बाद महिला के परिजन नर्सिंगहोम पर एकत्रित हो गए और डॉक्टर के समय पर न आने व उनकी लापरवाही को महिला की मौत की वजह बताकर हंगामा करने लगे। हंगामे की सूचना मिलते ही सीएससी सुरेन्द्र सिंह मय कोतवाली के बल के नर्सिंगहोम पर पहुंच गए। हालांकि इस दौरान आक्रोशित लोगों ने एक व्यक्ति से अभद्रता भी कर दी। लेकिन पुलिस ने मामले को शांत कर दिया।

    एक घंटे तक नहीं आया कोई
    पूजा की हालत करीब 12.30 बजे खराब हुई। तुरंत अस्पताल में मौजूद लोगों को सूचना दी। साथ ही डॉक्टर को भी बुलाने के लिए कहा। लेकिन डॉक्टर एक घंटे तक नहीं आई। इसी दौरान कंपाउडर ने इंजेक्शन लगा दिया। इसके बाद पूजा के मुंह से झाग निकले और उसकी मौत हो गई। यदि डॉक्टर समय से आ जाती तो पूजा को बचाया जा सकता था। 

    कमलेश देवी, मृतका की मौसी सास
    क्या कहती हैं डॉक्टर
    शाम को नॉर्मल डिलेवरी हुई थी। रात में उसकी तबियत खराब हुई। उसका उपचार भी किया। लेकिन उसकी मौत हो गई। ये बात तो पीएम में ही पता चलेगा कि उसकी मौत किस वजह से हुई है।

    Post Top Ad


    Post Bottom Ad


    Blogger द्वारा संचालित.