Header Ads

  • INA BREAKING NEWS

    कासगंज में तिरंगा यात्रा नहीं भगवा यात्रा थी,नितिन अग्रवाल

    हरदोई. समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय महासचिव व राज्यसभा सांसद नरेश अग्रवाल के पुत्र नितिन अग्रवाल ने प्रेस वार्ता में कांसगंज में निकाली गई तिरंगा यात्रा पर सवाल उठाते हुए कहा कि यह तिरंगा यात्रा नहीं बल्कि भगवा यात्रा थी। कासगंज के दंगे को उन्होंने साजिश बताया। एनकाउंटर पर सवाल उठाते हुए नितिन ने कहा कि सरकार फर्जी एनकाउंटर करा रही है और सपा के प्रभावशाली लोगों को उसमे फंसा रही है ये सरकार की साजिश है।


    हरदोई सदर के विधयाक नितिन अग्रवाल ने कहा कि जब कासगंज में 144 धारा लगी हुई थी, तो कैसे 200 लोग तिरंगा यात्रा के नाम पर निकले। तिरंगा क्या किसी के हाथ की बपौती हो गई, ये लोग तिरंगा यात्रा के नाम पर भगवा यात्रा निकाल रहे थे। उसमें तिरंगे तो नहीं थे लेकिन भगवा कलर के झंडे को असामाजिक तत्व जो हिंदू के नाम पर भारतीय जनता पार्टी के संगठन पैदा हो गए हैं और इन संगठन में जो लोग हैं। वह उत्तर प्रदेश में माहौल खराब करने का काम कर रहे हैं। यहां तक कि अब तो प्रदेश के अधिकारियों ने भी कहना शुरू कर दिया है की ये कितना जायज है कि किसी विशेष समुदाय बाहुल्य के इलाके में आप जाएं और आप वहां नारेबाजी करें और वहां के लोगों को उकसाए और फिर वहां पर झगड़ा हो दंगा हो और आपको उसका लाभ मिलेगा।उन्हने कहा

    सत्ता के लिए माहौल खराब कर रही है बीजेपी
    नितिन अग्रवाल ने कहा, यह भारतीय जनता पार्टी के लोग केवल कैसे सत्ता हासिल हो इस पर लगे हैं और इसके लिए कैसे माहौल खराब करके समुदाय को तोड़ के झगड़ा कराकर कैसे लाभ हो यह सिर्फ यही करना चाहते हैं।योगी सरकार के मंत्रियों को झूठा बताते हुए उन्होंने कहा, मंत्री विधानसभा में भी झूठ बोलने से नहीं कतराते हैं। हम लोगों ने पूछा तो सरकार के मंत्री भी गलत बयानबाजी कर रहे हैं। वह भी विधानसभा के अंदर यह पहली बार देखने को मिल रहा है कि सरकार में मंत्री विधानसभा के अंदर सवालों का गलत जवाब देते हैं।  

    नितिन अग्रवाल ने कहा जहां तक कानून व्यवस्था की बात है यह सब जानते हैं उत्तर प्रदेश के हालात क्या हैं। यहां तक कि पुलिस जिसके ऊपर कानून व्यवस्था बनाए रखने की जिम्मेदारी है वह तक उत्तर प्रदेश में सुरक्षित नहीं हैं। कितने ही ऐसे प्रकरण हुए हैं जहां भारतीय जनता पार्टी के कार्यकर्ताओं ने विश्व हिंदू परिषद के  हो या फिर बजरंग दल के और तमाम इनके जो संगठन हैं उन कार्यकर्ताओं ने थानों में घुसकर पुलिस को मारने का काम किया है।

    उत्तर प्रदेश चीफ ब्यूरों मुईज़ साग़री

    Post Top Ad


    Post Bottom Ad


    Blogger द्वारा संचालित.